Body Movements

Body Movements

science for Class 6 Chapter 8 in hindi

बिल्कुल स्थिर बैठो। अपने शरीर में हो रही गतिविधियों का निरीक्षण करें।

सांस लेते हुए अपने शरीर के क्षणों का निरीक्षण करें।

हमारे शरीर में बहुत से क्षण होते हैं।

जानवर एक जगह से दूसरी जगह कैसे जाते हैं?

जानवर एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने के लिए प्रयुक्त शरीर का अंग जानवर कैसे चलता है?
गाय टांगे चलकर
इंसान टांगे चलकर
सांप पूरा शरीर रेंगना
पक्षी पंख उड़ना
मछली पूरा शरीर तैरना

मानव शरीर और उसकी गति।

Body Movements
Body Movements

जानवरों में इन सभी प्रकार की गति को देखने से पहले शुरू करने के लिए अपने स्वयं के कुछ गति को बारीकी से देखें।

क्या आपको स्कूल में शारीरिक व्यायाम करने में मज़ा आता है?

विभिन्न व्यायाम करते समय आप अपने हाथ और पैर कैसे हिलाते हैं?

ऐसा क्यों है कि हम अपने शरीर के कुछ हिस्सों को आसानी से विभिन्न दिशाओं में और कुछ को केवल एक ही दिशा में ले जाने में सक्षम होते हैं?

हमारे शरीर के दो भाग आपस में जुड़े हुए प्रतीत होते हैं-जैसे कोहनी, कंधा या गर्दन?

इन स्थानों को जोड़(Joints) कहा जाता है।

हम अपने शरीर को केवल उन्हीं बिंदुओं पर मोड़ या हिला सकते हैं जहाँ हड्डियाँ मिलती हैं।

body movements and joints

मानव शरीर में चार प्रकार के जोड़ (संधि) होते हैं।

  1. कंदूक खल्लिका जोड़:  (यह जोड़ सभी दिशाओं में गति करता है।)
  2. कोरजोड़/हिंज संधि: (कोहनी में हिंज संधि होती है जिससे केवल आगे और पीछे एक ही दिशा में गति हो सकती है।)
  3. धुराग्रजोड़:  (गर्दन तथा सिर को जोड़ने वाली संधि(जोड़) धुराग्र संधि है।)
  4. अचल जोड़ (Fixed Joint): वह अस्थियां/हड्डियां जो हिल नहीं सकती ऐसी संधियों को अचल संधि कहते हैं।(उदाहरण के लिए नीचे वाला जबड़ा(jaw)

कशेरुकी प्राणियों में पसलियाँ (ribs) वह लम्बी, चापदार हड्डियाँ होती हैं जिन से पसली पिंजर बना हुआ होता है।

चौपाये प्राणियों में पस्लियाँ वक्ष गुहा को सुरक्षित रखती हैं, जिसमें हृदय, फेफड़े, श्वासनली, ग्रासनली, थाइमस ग्रंथि, इत्यादि जैसे महत्वपूर्ण अंग स्थित होते हैं

वक्ष के दोनों तरफ 12 पसलियां होती है और यह मिलकर 24 पसलियां(Ribs) बनती हैं

किसी इंसान के पीठ पर नीचे की ओर हाथ लगाइए आपके द्वारा अनुभव की गई संरचना मेरुदंड(Spinal Cord) है

यह मेरुदंड इंसानी खोपड़ी से लेकर श्रेणी-अस्थियां तक जुड़ी होती है

इसे इंसान का दूसरा दिमाग(second brain) भी कहा जाता है

कंकाल के कुछ अतिरिक्त अंग भी है जो हड्डियों जितने कठोर नहीं होते हैं और जिन्हें मोड़ा जा सकता है उन्हें उपास्थि(Cartilage) कहते हैं। (उदाहरण के लिए कान की हड्डी)

क्या आप अपनी ऊपरी भुजा(arm)  में कुछ परिवर्तन अनुभव करते हैं?

दूसरे हाथ से इसे छूकर देखिए क्या आपको कोई उभरा हुआ भाग दिखाई देता है?

इसे पेशी(muscle) कहते हैं, संकुचित(narrow) (लंबाई में कमी) होने के कारण पेशियां उभर आती हैं

जंतुओं की चाल/ Animal Movement

केंचुए(Earthworm) की चाल

घोंगा(Snail) की चाल

तिलचिट्टा(Cockroach) की चाल- यह जमीन पर चलता है, दीवार पर चढ़ता है, और हवा में भी उड़ता है

पक्षी(Bird) की चाल- हवा में भी उठते हैं, और जमीन पर भी चलते हैं

मछली(Fish) की चाल- मछली पानी के अंदर तैरती है

मछली का सीर एवं पूंछ उसके मध्य भाग की अपेक्षा पतले एवं नुकीले होते हैं शरीर की ऐसी आकृति धारा रेखीय कहलाती है

साँप(Snake) की चाल- साँप का मेरुदंड लंबा होता है और यह कभी भी सीधा नहीं चलता, और हमेशा रेंगता(crawls) हुआ चलता है।

सांप का शरीर अनेक वलय(annulus) में मुड़ा होता है

Class 6 Science Chapter 8 Question answer in Hindi

प्रश्न: अस्थियों की संधियाँ शरीर को किस में सहायता करती है ?

उत्तर: गति

प्रश्न: कोहनी की अस्थियां किस संधि द्वारा जुड़ी होती है?

उत्तर: हिंज

प्रश्न: हस्तियां एवं उपास्थि संयुक्त रूप से शरीर का क्या बनाते हैं?

उत्तर: कंकाल

प्रश्न: क्या उपास्थि अस्थि की अपेक्षा कठोर होती है?

उत्तर: नहीं

Body Movements

 

अन्य पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published.