Ganguly and Kohli controversy

Ganguly and Kohli controversy

राजनीति की खबरें तो आपको रोज सुनने को मिलती है लेकिन आज बात करेंगे क्रिकेट की राजनीति के बारे में जो फिलहाल खबरों में है।

बात करें इस खेल की तो इस खेल के साथ साथ क्रिकेट राजनीति का खेल भी चलता है।

जब से Virat Kohli को ODI के कप्तान के रूप में बर्खास्त किया गया था, तब से उनके और BCCI के बीच कुछ गलत होने की खबर थी।

इस से पहले BCCI ने बिना किसी सूचना के Virat Kohli से कप्तानी छीन ली और फिर बाद में स्थिति को संभालने की कोशिश की गयी थी।


क्या था पूरा विवाद

15 दिसंबर को  जब विराट कोहली ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर BCCI अध्यक्ष Sourav Ganguly के दावों को खारिज कर दिया कि उन्हें पूर्व कप्तान द्वारा T-20 कप्तानी नहीं छोड़ने का अनुरोध किया गया था।

ANI के एक सवाल का जवाब देते हुए, Kohli ने कहा, “मुझसे बैठक से 1.5 घंटे पहले संपर्क किया गया था।

कोई पूर्व संचार नहीं था, मुख्य चयनकर्ता ने टेस्ट टीम पर चर्चा की।

Call खत्म करने से पहले मुझे बताया गया कि 5 चयनकर्ताओं ने फैसला किया है कि मैं ODI कप्तान नहीं बनूंगा, जो ठीक है, इससे पहले कोई संवाद नहीं था।”


Ganguly and Kohli controversy

यह सौरव गांगुली की कही हुई बात के बिल्कुल उलट था।

Sourav Ganguly ने PTI से बात करते हुए कहा था कि विराट को T-20 कप्तानी नहीं छोड़ने के लिए कहा गया था, लेकिन Kohli ऐसा करने पर अड़े थे।

बोर्ड, उस स्थिति में, दो सफेद गेंद वाले कप्तानों [ विराट कोहली और रोहित शर्मा ] को रखने का जोखिम नहीं उठा सकता था।

इसलिए, उसने Rohit Sharma को एकदिवसीय प्रारूप के कप्तान के रूप में नियुक्त करने का निर्णय लिया, जबकि विराट टेस्ट में टीम का नेतृत्व करेंगे।


क्या BCCI नाराज है?

आपको बता दें कि Virat Kohli के प्रशंसकों ने जल्द ही Twitter पर सौरव गांगुली और BCCI को विराट पर Ghosting लगाने और उन्हें अपमानित करने के लिए फटकार लगाई।

PTI की एक रिपोर्ट में यह भी उल्लेख किया गया है कि Chetan Sharma की अगुवाई वाली BCCI चयन समिति की प्रेस कॉन्फ्रेंस करने की बात थी, लेकिन बाद में उन्होंने इस विवाद में जवाबी बयान देने से परहेज किया।

Ganguly and Kohli controversy

BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने विराट कोहली विवाद पर सार्वजनिक टिप्पणी नहीं करने का फैसला क्यों किया?

  1. सौरव गांगुली ने भी 16 दिसंबर को परदे के पीछे इसका समाधान निकालने के स्पष्ट संकेत दिए थे।
  2. उन्होंने कहा, “कोई बयान नहीं, कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं। हम इससे निपटेंगे, इसे BCCI पर छोड़ दें।”
  3. सार्वजनिक बयान जारी नहीं करने का निर्णय कथित तौर पर आगामी South Africa श्रृंखला को ध्यान में रखते हुए लिया गया है।

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव ने क्या कहा-

कपिल देव ने Hindustan Times से कहा, “मैं कहूंगा कि बोर्ड अध्यक्ष बोर्ड अध्यक्ष हैं, लेकिन हां भारतीय क्रिकेट टीम का कप्तान भी एक बड़ी बात है।

लेकिन सार्वजनिक रूप से एक-दूसरे के बारे में बुरी तरह से बात करना, मुझे नहीं लगता कि यह अच्छी बात है, चाहे यह Sourav या Kohli हैं।”

कोहली और रोहित शर्मा के मतभेद की खबरें

विराट कोहली ने रोहित शर्मा से मतभेद की तमाम खबरों को गलत बताया और कहा कि वह इस पर सफाई देते देते अब थक चुके हैं।

यानी इस तरह से Kohli, BCCI के फैसले पर हैरानी जता रहे हैं,और उस पर सवाल खड़े कर रहे हैं।

और दूसरी तरफ वे रोहित शर्मा से अपने मतभेदों की खबरों से इंकार कर रहे हैं।

कौन सच कह रहा है कौन झूठ कह रहा है आप अपनी राय Comment Box में बताएं ….


Miss India Miss World Miss Universe

One thought on “Ganguly and Kohli controversy”

Leave a Reply

Your email address will not be published.