मुख्य फसलें (Main crops)

Main crops-

खेती की जाने वाली मुख्य फसले(Main crops)-

चावल-

Rice Farming
Main crops-Rice
  • भारत चीन के बाद दूसरा सबसे बड़ा चावल उत्पादन देश है, यह एक खरीफ की फसल है। इस फसल के लिए तापमान 25 डिग्री सेल्सियस से ऊपर और अधिक आर्द्रता में 100 सेंटी मीटर से अधिक वर्षा की आवश्यकता होती है।
  • चावल उतर और उतर पूर्वी मैदानों, तटीय क्षेत्रों और डेल्टाई प्रदेशो में उगाया जाता है।

गेंहू


गेंहू भारत की दूसरी सबसे मह्त्वपूर्ण खाद्यान फसल है जो देश के उतर और उतर पश्चिमी भागों में पैदा की जाती है, इस फसल के लिए 50 से 75 सेंटी मीटर वार्षिक वर्षा की आवश्यकता होती है।

भारत में गेहूं उगाने वाले दो मुख्य क्षेत्र है भारत में गेहूं उगाने वाले दो मुख्य क्षेत्र है-उतर पश्चिम में गंगा-सतलुज का मैदान, और दक्कन का काली मिट्टी वाला प्रदेश।

उत्तर प्रदेश सबसे बड़ा गेहूं और गन्ना उत्पादक राज्य है पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश चावल उत्पादन के मुख्य राज्य है।

मोटे अनाज:

  • ज्वार, बाजरा, और रागी भारत में उगाए जाने वाले मोटे अनाज है, इनमे पोषक तत्व की मात्रा अधिक होती है जैसे – लोहा कैल्शियम, सूक्षम पोषक, भूसी इत्यादि।
  • क्षेत्रफल और उत्पादन की दृष्टि में ज्वार भारत की तीसरी महत्वपूर्ण खाद्यान्न फसल है।
  • यह फसल अधिकतर क्षेत्रों में उगाई जाती है इसके लिए सिंचाई की जरूरत नहीं होती।

मुख्य उत्पादन राज्य: महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और मध्य प्रदेश

बाजरा-

crops
Main crop-Millet

यह बलुआ और काली मिट्टी पर उगाया जाता है।

मुख्य उत्पादन राज्य-राजस्थान, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात और हरियाणा

रागी-


यह लाल काली बलुआ दोमट और उथली काली मिट्टी पर अच्छी तरह उगाई जाती है।

रागी के प्रमुख उत्पादक राज्य: कर्नाटक, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, सिक्किम, झारखंड और अरुणाचल प्रदेश है।

Main crops-

मक्का-


यह ऐसी फसल है जो खाद्यान व चारा दोनों रूप में प्रयोग होती है।,

  • यह फसल 21 डिग्री सेल्सियस से 27 डिग्री सेल्सियस तापमान में और पुरानी जलोढ़ मिट्टी पर अच्छी प्रकार से उगाई जाती है
  • बिहार जैसे कुछ राज्यों में मक्का रबी की ऋतु में भी उगाई जाती है।
  • मुख्य उत्पादक राज्य: कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और मध्य प्रदेश है।

दालें-

भारत विश्व में दालों का सबसे बड़ा उत्पादक तथा उपभोक्ता देश है।

मुख्य उत्पादक राज्य: मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र और कर्नाटक हैं।

खाद्यान्नों के अलावा अन्य खाद्य फसलें-

गन्ना- यह एक उषण और उपोषण कटिबंध फसल है।

  • इस फसल को उगाने के लिए लिए 21 डिग्री सेल्सियस से 27 डिग्री सेल्सियस तापमान की आवश्यकता होती है।
  • यह 75 सेंटीमीटर से 100 सेंटीमीटर वाली उषण और आर्द्र जलवायु में बोई जाती है।
  • ब्राजील के बाद भारत गन्ने का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश है।
  • चीनी गुड खांडसारी और शीरा बनाने के काम आता है।
  • मुख्य उत्पादक राज्य: उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, बिहार, पंजाब और हरियाणा है।
  • उत्तर प्रदेश गन्ने का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य है।

तिलहन-

देश के कुल बोए गए क्षेत्र के 12% भाग पर कई तिलहन की फसलें उगाई जाती हैं।

मुख्य फसलें- मूंगफली, सरसों, नारियल, तिल, सोयाबीन, भरंडी, बिनौला अलसी और सूरजमुखी हैं।

  • मूंगफली- यह खरीफ की फसल है तथा देश के मुख्या तिलहनों के कुल उत्पादन का आधा भाग इसी फसल से प्राप्त होता है। मुख्य उत्पादक राज्य: गुजरात, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक और महाराष्ट्र है।                                      भारत मूंगफली का सबसे बड़ा उत्पादक देश है।
  • अलसी और सरसों- यह रबी की फसलें है।
  • तिल- उत्तरी भारत में खरीफ की फसल है और दक्षिण भारत में रबी की फसल है।
  • अरंडी- यह खरीफ और रबी दोनों ही फसल ऋतुओं में बोया जाता है।

चाय-

इसकी खेती रोपण कृषि का उदाहरण है।

यह उषण उपोषण कटिबंधीय जलवायु, ह्रूमस और जीवांश युक्त गहरी मिटटी तथा सुगम जल निकास ढलवां क्षेत्रों में उगाया जाता है।

मुख्य उत्पादक क्षेत्र : असम चाय का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य है, पश्चिम बंगाल में दार्जिलिंग और जलपाइगुड़ी की पहाड़िया, तमिलनाडु और केरल।

इसके अलावा हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, मेघालय आंध्र प्रदेश और त्रिपुरा में उगाई जाती है।

कॉफी-

देश में अरेबिका किस्म की कॉफी पैदा की जाती है, जो आरम्भ में यमन से लायी गयी थी।

मुख्य उत्पादक क्षेत्र :उनकी कृषि शुरुआत में बाबा बुदन पहाड़ियों के आस पास कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में की जाती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.