prime minister narender modi का मंडी दौरा

prime minister narender modi का मंडी दौरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंडी दौरे पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा त्रिशूल (25 किलोग्राम वजनी) भेंट किया गया।

मंडी की ‘सेपू बड़ी‘ ‘बदाने का मिट्ठा‘ का जिक्र भी किया।

Hydro Power Project का शिलान्यास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश में 04 पनबिजली परियोजनाओं की आधारशिला रखी।

हिमाचल प्रदेश जल विद्युत संसाधनों में बहुत समृद्ध है और भारत की कुल क्षमता का लगभग 25% प्रतिशत हिमाचल प्रदेश में है।


11000 करोड़ की सौगात 04 पनबिजली परियोजनाओं का शिलान्यास

prime minister
narender modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मंडी दौरा

रेणुका जी बांध परियोजना का शिलान्यास

  • 40 मेगावॉट क्षमता की इस परियोजना का निर्माण करीब 7 हजार करोड़ रूपये की लागत से किया जाएगा।
  • यह परियोजना सिरमौर जिले में यमुना नदी  की सहायक गिरी नदी पर बनाई जा रही है।
  • इस Dam से हर साल करीब 50 करोड क्यूबिक मीटर पानी की आपूर्ति हो सकेगी।

सावड़ा-कुड्डू जल विद्युत परियोजना/Savda-Kuddu Hydroelectric Project

  • हिमाचल प्रदेश पावर कार्पोरेशन लिमिटेड ने शिमला जिले में पब्बर नदी पर बनाई जा रही 111 मेगावाट की सावड़ा-कुड्डू जल विद्युत परियोजना का शिलान्यास।
  • इस परियोजना से सालाना 380 मिलियन यूनिट से अधिक बिजली का उत्पादन किया जाएगा।

prime minister narender modi का मंडी दौरा

लुहरी हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट स्टेज-1 (Luhri Hydro Power Project stage-1) 

  • PM नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता वाली आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति (सीसीईए) ने इस जलविद्युत परियोजना के लिए 1810.56 करोड़ के निवेश को मंजूरी दी थी।
  • 210 MW की ये जल विद्युत परियोजना हिमाचल के शिमला और कुल्‍लू जिले में सतलुज नदी पर निर्माणाधीन है।
  •  इस परियोजना का निर्माण लगभग 1800 करोड़ रूपये की लागत से किया जाएगा।

power project
Dhaulasiddha Hydroelectric Project

धौ‍लासिद्ध जल-विद्युत परियोजना/Dhaulasiddha Hydroelectric Project

  • 66 मेगावॉट क्षमता वाली इस परियोजना के निर्माण पर लगभग 680 करोड़ रूपये की लागत आएगी।
  • यह परियोजना व्यास नदी पर बनाई जा रही है।
  • आपको बता दें कि हमीरपुर जिले की पहली जल विद्युत परियोजना होगी।
  • सनोटू गांव में Power House बनेगा, यहां से 18km लंबी ट्रांसमिशन लाइन बिछाई जाएगी।
  • सुजानपुर में इसे पावर ग्रिड के साथ जोड़ा जाएगा।
  • 253 meter लंबी सुरंग से ब्यास के पानी से धौलासिद्ध में बनेगी 66MW बिजली।

 

अन्य पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published.