Separation of Substances

Separation of Substances

science for Class 6 Chapter 5 in hindi

Separation of substances | पदार्थ का पृथक्करण

हमारे दैनिक जीवन में, ऐसे कई उदाहरण हैं जब हम देखते हैं कि कोई पदार्थ सामग्री के मिश्रण से अलग हो रहा है।

अलगाव की प्रक्रिया कुछ इस तरह से हैं-

जैसे कटाई के समय अनाज को डंठलों से अलग कर दिया जाता है।

मक्खन को अलग करने के लिए दूध या दही को मथ लिया जाता है।(घर में माता जी को यह प्रक्रिया अक्सर करते हुए देखा होगा।)

शायद आपने नमकीन दलिया या पोहा खाया होगा। अगर आपने पाया कि इसमें मिर्च है, तो आपने इन्हें खाने से पहले सावधानी से निकाल लिया होगा।

Separation of Substances
sepration of substance

हम पदार्थों को अलग क्यों करते हैं?

             पृथक्करण प्रक्रिया  प्रक्रिया जिसके लिए हम अलगाव करते हैं हम अलग किए गए घटकों के साथ क्या करते हैं?
      चावल से पत्थर अलग करना दो अलग, लेकिन उपयोगी घटकों को अलग करने के लिए।        हमने ठोस घटकों को फेंक दिया।
  मक्खन प्राप्त करने के लिए दूध को मथना अनुपयोगी घटकों को हटाने के लिए         हम अशुद्धियों को फेंक देते हैं।
      चाय की पत्तियां अलग करना अशुद्धियों और हर फूल घटकों को दूर करने के लिए       हम दोनों घटकों का उपयोग करते हैं

अलग किए जाने वाले पदार्थ विभिन्न आकार या सामग्री के कण हो सकते हैं। ये पदार्थ की किन्हीं तीन अवस्थाओं में हो सकते हैं जो ठोस, तरल या गैस हैं।

अलगाव के तरीके | Methods of Separation

हाथ से उठाना | Handpicking

अगर आप बाजार से अनाज का पैकेट खरीदते हैं, क्या इस पैकेट में पत्थर के टुकड़े, भूसी, टूटे हुए अनाज और किसी अन्य अनाज के कण हैं?

अब इसमें से पत्थर, भूसी और अन्य अनाज का टुकड़ा अपने हाथ से हटा दें।

हाथ से चुनने की इस विधि का उपयोग थोड़ा बड़े आकार की अशुद्धियों जैसे गंदगी, पत्थर और भूसी के टुकड़ों को गेहूं, चावल या दाल से अलग करने के लिए किया जा सकता है।

Separation of Substances

Threshing | भूसी निकालना

आपने फसलों की कटाई के बाद खेतों में पड़े गेहूं या धान के डंठल के बंडलों को देखा होगा।

दानों से अनाज अलग होने से पहले डंठलों को धूप में सुखाया जाता है, प्रत्येक स्टॉक में कई अनाज के बीज जुड़े होते हैं।

खेत में पड़े डंठल के सैकड़ों बंडलों में अनाज के बीजों की संख्या की कल्पना कीजिए! किसान अनाज के बीज को स्टॉक के उन बंडलों से कैसे अलग करता है?

इसलिए, उन्हें उनके स्टॉक से तोड़ना असंभव होगा।

सूखे पौधों की डंडियों से अन्नकणों अथवा अनाज को पृथक करने के प्रकरण को थ्रेशिंग कहते हैं।

कभी-कभी बैलों की मदद से थ्रेसिंग की जाती है, आजकल मशीन की मदद से थ्रेसिंग की जाती है।

winnowing | सूप

सूखी रेत को चूरा या पावर के सूखे पत्तों के साथ मिलाएं, इस मिश्रण को किसी प्लेट या अखबार में रखें।

इस मिश्रण को ध्यान से देखिए।

क्या दो अलग-अलग घटकों को आसानी से बनाया जा सकता है? क्या दो घटकों के कणों के आकार समान हैं?

क्या Handpicking द्वारा घटकों को अलग करना संभव होगा?

अब अपने मिश्रण को एक खुले मैदान में ले जाएं और एक ऊंचे चबूतरे पर खड़े हो जाएं, मिश्रण को एक प्लेट या कागज़ की शीट में डाल दें।

अपने कंधे की ऊंचाई पर मिश्रण वाली प्लेट या कागज़ की शीट को पकड़ें, इसे थोड़ा सा झुकाएं, ताकि मिश्रण धीरे-धीरे बाहर निकल जाए।

क्या होता है? क्या रेत और चूरा दोनों घटक एक ही स्थान पर गिरते हैं? क्या कोई घटक है जो उड़ जाता है? क्या हवा ने दो घटकों को अलग करने का प्रबंधन किया?

मिश्रण के घटकों को अलग करने की इस विधि को winnowing कहते हैं।

winnowing  का उपयोग मिश्रण के भारी और हल्के घटकों को हवा या हवा में उड़ाकर अलग करने के लिए किया जाता है।

Sieving | छानना
छानने से मैदा के महीन कण छलनी के छिद्रों से होकर निकल जाते हैं जबकि बड़ी अशुद्धियाँ छलनी पर रह जाती हैं।
Separation of Substances

Sedimentation, Decantation, and Filtration | अवसादन, निस्तारण, और निस्यंदन

मिश्रण में जल मिलाने पर भारी अवयवों के नीचे तली में बैठ जाने के प्रक्रम को अवसादन कहते हैं।

अवसादित मिश्रण को बिना हिलाए जल को मिट्टी सहित उडेलने की प्रक्रिया को निस्तारण कहते हैं।

उदाहरण के लिए, तेल तथा जल को उनके मिश्रण से इसी विधि द्वारा पृथक किया जा सकता है।

चाय तैयार करने के बाद आप चाय की पत्तियां पृथक करने के लिए क्या करते हैं?

अक्सर आप छन्नी का प्रयोग करते हैं आइए निस्तारण विधि का उपयोग करके देखें।

इसके द्वारा कुछ सहायता मिलती है परंतु क्या आपको चाय में कुछ पत्नियां अब भी मिलती हैं?

अभी चाय को एक छन्नी में डाल दीजिए, क्या चाय की सारी पत्नियां छन्नी में रह जाती है? इस प्रक्रम को निस्यंदन कहते हैं।

Evaporation | वाष्पीकरण

एक बर्तन में आपने पानी भरा और उसमें दो चम्मच नमक के डालें, आप उस पानी के बर्तन को आप के नीचे गरम करने के लिए रख दिया थोड़ी ही देर बाद पानी से भाप निकलने लगती है।

इस प्रक्रिया को वाष्पीकरण (Evaporation)कहा जाता है।

परिभाषा: जल को उसके वाष्प में परिवर्तन करने की प्रक्रिया को वाष्पन कहते हैं।

पृथक्करण की एक से अधिक विधियों का उपयोग

जलवाष्प के द्रव रूप में बदलने की प्रक्रिया संघनन(Condensation) कहलाती है।

भाप को पानी की व्यवस्था में फिर से परिवर्तित करने की प्रक्रिया को Condensation कहते हैं।

शोधन, निस्पंदन, वाष्पीकरण और संघनन की प्रक्रियाओं का उपयोग करके नमक, रेत और पानी को अलग करना।

प्रश्न: क्या पानी किसी भी पदार्थ को घोल सकता है?

एक गिलास पानी में अगर आप अधिक मात्रा में नमक को मिलाएंगे तो इसका अर्थ यह हुआ कि अब इस जल में अधिक नमक नहीं घुल सकता अब यह बिलियन संतृप्त विलियन(Saturated) कहलाता है।

प्रश्न: धान के दानों को डंडियों से पृथक करने की विधि को क्या कहते हैं?

उत्तर: थ्रेशिंग

प्रश्न: समुद्र के जल से नमक किस प्रक्रिया द्वारा प्राप्त किया जाता है?

उत्तर: वाष्पन

प्रश्न: किसी एक कपड़े पर दूध को उड़ेलते हैं तो मलाई उस पर रह जाती है पृथक्करण की यह प्रक्रिया क्या कहलाती है?

उत्तर: निस्यंदन

Separation of Substances

अन्य पढ़े:

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.