District Chamba

District Chamba

Here you will get all details of District Chamba

District Chamba
Chamba

चम्बा का जिले के रूप में गठन- 15 अप्रैल 1948चम्बा का इतिहास-z

  1.  550 ई. में- अयोध्या के राजा सूर्यवंशी मारू ने चम्बा रियासत की स्थापना की थी, राजधानी भरमौर (ब्रह्मपुर)।
  2.  620 ई. में- वर्मन की उपाधि सर्वप्रथम आदित्य वर्मन ने धारण की।
  3.  680 ई. में- चम्बा का राजा मेरु बर्मन, एक शक्तिशाली राजा था मेरु बर्मन द्वारा मंदिर निर्माण-

 (1).भरमौर में मणिमहेश, (2).लक्ष्णा देवी मंदिर, (3).गणेश मंदिर नरसिंह मंदिर,  (4).छतराड़ी में शक्ति देवी मंदिर।

  1.  800 ई. में- तिब्बतियों ने चम्बा रियासत के अधिकतर क्षेत्रों पर कब्जा किया, इस समय राजा लक्ष्मी बर्मन थे।
  2.  920 ई. में- साहिल बर्मन ने चम्बा शहर की स्थापना की थी, उसने शहर का नाम अपनी पुत्री चंपावती के नाम से रखा।

साहिल बर्मन द्वारा मंदिरों का निर्माण- 1.लक्ष्मी नारायण   2.चंद्रशेखर चंद्रगुप्त     3. कामेश्वर मंदिर।

  1.  940 ई. में – युगंकर बर्मन की पत्नी त्रिभुवन देवी के द्वारा भरमौर में नरसिंह मंदिर का निर्माण।
  2.  1040 ई. में- उस समय राजा सालवाहन वर्मन थे।

कुछ खास बातें-

  1.  कश्मीर के शासक अनंत देव ने भरमौर पर सालवाहन वर्मन के समय आक्रमण किया था यह सब राज तरंगिणी में है।
  2.  इनके समय के कुछ शिलालेख मिले हैं जिसमें तीसा परगना और साईकोठी का उस समय बसौली राज्य मैं होने का पता चला है।
  3.  1105 ई. में – राजा जसटा वर्मन थे, इस समय का शिलालेख चुराह के लोहटिकरी में मिला है।
  4.  1143 ई. में- राजा ललित बर्मन थे, इनके कार्यालय के दो पत्थर लेख डिवरी कोठी और सेचुनाला मैं प्राप्त हुए हैं।
  5.  1191- 92 में- मोहम्मद गौरी के आक्रमणों का फायदा लेकर विजय बर्मन के द्वारा कश्मीर और लद्दाख पर कब्जा।
  6.  1512 ई. में -गणेश बर्मन ने सर्वप्रथम सिंह की उपाधि।
  7.  1559 ई. में – राजा प्रताप सिंह बर्मन।
कुछ महत्वपूर्ण बातें-
  1.  राजा प्रताप सिंह अकबर के समकालीन थे।
  2.  चम्बा का रिहलू क्षेत्र टोडरमल ने मुगलों को दे दिया।
  3.  प्रताप सिंह द्वारा कांगड़ा के राजा चंद्रपाल की हार और गुलेर का चम्बा रियासत में मिलाया जाना।
  4.  1622 ई.में – जहांगीर का कांगड़ा भ्रमण, जहांगीर के कांगड़ा दौरे पर चम्बा का राजा जनार्धन और उसका भाई उनसे मिलने आए।

. राजा जनार्दन और जगत सिंह के धलोग का युद्ध हुआ जिसमें चम्बा के राजा की हार हुई।

  1. 1623 ई. में-  जनार्दन को जगत सिंह ने धोखे से मरवा दिया।

. 1641 ई. में-  जगत सिंह का शाहजहां के विरुद्ध विद्रोह।

. मौके का फायदा उठाकर पृथ्वी सिंह जो कि बलभद्र का पुत्र था उसने मंडी और सुकेती की मदद से चम्बा पर अधिकार किया।

. बचपन में पृथ्वी सिंह का पालन पोषण नर्स बाटलू ने किया।

. पृथ्वी सिंह ने भलेई तहसील बसोली के राजा संग्राम सिंह को देकर उससे गठबंधन किया।

. 1648 ई.-  भलेई को चम्बा में मिलाया गया।

. पृथ्वी सिंह शाहजहां का समकालीन था।

. नर्स बाटलू द्वारा मंदिरों का निर्माण- (1)खज्जीनाग (खजियार), (2)हिडिंबा मंदिर (मेहल्ला),(3) सीताराम मंदिर (चम्बा)।

  1. 1664 ई.में-  चतर सिंह का बसौली पर आक्रमण और भलेई ही पर कब्जा चतर सिंह औरंगजेब का समकालीन था।
  2. 1678 ई.में-  औरंगजेब का हिंदू मंदिरों को नष्ट करने का आदेश, और चतर सिंह ने इस आदेश को मानने से इनकार किया।
  3. 1748 ई.में-  राजा उमेद सिंह उनके कार्यकाल में चम्बा राज्य मंडी सीमा तक फैल गया था।

District Chamba

. कुछ महत्वपूर्ण बातें-

. राजा उमेद राजनगर में नाडा महल बनवाया।

. चम्बा के रंग महल की नीव राजा उमेद ने रखी।

  1. 1764 में –  राजा राज सिंह 9 वर्ष की आयु में बने इसी समय घमंड चंद ने पथियार को चम्बा से छीन लिया।

. रिहलू क्षेत्र को लेकर राजा राज सिंह और कांगड़ा के राजा संसार चंद के बीच युद्ध हुआ।

. राज सिंह के दरबार में कलाकार- निक्का,रांझा, छज्जू ,हरकू।

  1. 1808 ई.में-  चरहत सिंह 6 वर्ष की आयु में राजा बने, राज्य का काम नाथू वजीर संभालता था,।
  2. 1825 ई.में –  चरहत सिंह की माता ने राधाकृष्णन मंदिर की स्थापना की।
  3. 1825 ई में-  पदर के राज अधिकारी रतनू ने जास्कर पर आक्रमण किया।
  4. 1839 ई. में-  विगने और जनरल कनिंघम ने चम्बा यात्रा की।
  5. 1844 ई. में –  श्री सिंह 5 वर्ष की आयु में राजा बनाए गए लक्कड़ शाह ब्राह्मण श्री सिंह के समय प्रशासन नियंत्रण रखे हुए था।
  6. 1840 ई.में-  चम्बा को जम्मू के राजा गुलाब सिंह को दे दिया गया, वजीर भागा के प्रयासों से सर हेनरीलॉरेंस ने चम्बा की वर्तमान स्थिति रहने दे।
  7. 1846 ई.में-  चम्बा अंग्रेजों के अधीन आ गया।
  8. 1857 का विद्रोह – श्री सिंह का अंग्रेजों के साथ समर्थन, मियां अवतार सिंह के अधीन डलहौजी में अंग्रेजों की सहायता के लिए सेना भेजी।
  9. 1864 ई.में – वजीर भागा सेवा निर्वित हो गया जो 1830 में चम्बा का वजीर नियुक्त हुआ था।
  10. 1863 ई.में-(a).व्लेयर रीड चम्बा का सुप्रिडेंट बना।  (b).डाकघर खोला गया।
  1. 1870 से 1947 का तक –
  2. 1871 ई.में – लॉर्ड मायो चम्बा आए।
  3. 1874 ई.में-  सर हेनरी डेविस ने चम्बा की यात्रा की।
  4. शाम सिंह ने 1875 और 1877 के दिल्ली दरबार में भाग लिया।

32    1880 ई.-  चम्बा में हॉप्स की खेती शुरू की गयी।

  1. 1883 ई.में-  सर चार्ज एटिकक्शन की चम्बा यात्रा।
  2. 1891 ई.में-  कर्नल रीड अस्पताल को तोड़कर शाम सिंह अस्पताल बनाया गया (40 बिस्तरों का)।
  3. 1894 ई.में-  शीतला पुल टूट गया और उसकी जगह लोहे का सस्पेंशन पुल बनाया गया।
  4. 1895 ई.में-  भटियात विद्रोह हुआ।
  5. 1900 ई.में-  लॉर्ड कर्जन और उनकी पत्नी की चम्बा यात्रा।
  6. 1904 ई.में-  भूरी सिंह चम्बा के राजा बने।

District Chamba

(1) 1 जनवरी 1906 को राजा बुरी सिंह को नाइटहुड की उपाधि मिली।

(2) 1908 ई.में भूरी सिंह संग्रहालय की स्थापना।

(3) 1910 में बिजली घर का निर्माण किया गया।

  1. 1935 में- चम्बा का अंतिम राजा-लक्ष्मण सिंह बने।
प्रमुख बिंदु-
  1. लोक नृत्य-   झाँझर और नाटी,।
  2. गीत –  कुंजु -चंचलो ,रंझु -फुलमु ,भुक्कु -गददी।
  3. मेले-  मिंजर मेला(अगस्त), सुही मेला(अप्रैल)।
  4. यात्रा- फूल यात्रा(अक्टूबर) मणिमहेश यात्रा(अगस्त-सितंबर)।
  5. किताब लेखन-  मुख्त सर तारीख-ए-रियासत चम्बा -गरीब खान।

. एंटीक्स ऑफ चम्बा स्टेट –बी.सी.छाबड़ा।

  1. पशुपालन- सरोल में भेड़ प्रजनन केंद्र।
  2. जल विद्युत परियोजनाएं-  (a.) चमेरा-1 (540 mw), (b).चमेरा-II – (300 mw) (c).  बेरास्यूल (198mw)  (d).हडसर (60mw )  (e).भरमौर (45mw )।

 

यहां आप हिमाचल प्रदेश के अन्य ज़िलों के बारे में जानकारी ले सकते किन्नौर,हमीरपुर, शिमला।।।

2 thoughts on “District Chamba”

Leave a Reply

Your email address will not be published.