District Kullu Part-02

District Kullu Part-02

District Kullu Part-02
कुल्लू

District Kullu Part-02

  • ब्रिटिश सत्ता एवं जिला निर्माण- कुल्लू जिला ब्रिटिश सत्ता एवं जिला निर्माण प्रथम सिख युद्ध के बाद 9 मार्च 1846 ईसवी को कुल्लू रियासत अंग्रेजों के अधीन आ गया
  • लाहौल-स्पीति को 9 मार्च 1846 ईसवी को कुल्लू के साथ मनाया गया
  • कुल्लू उपमंडल का पहला सहायक आयुक्त कैप्टन हेय था
  • 1863 ईस्वी में वायसराय लॉर्ड एलगिन कुल्लू आने वाले प्रथम वायसराय थे
  • कुल्लू उपमंडल से अलग होकर लाहौल-स्पीति जिले का गठन 30 जून 1960 ईस्वी को हुआ
  • जिले के पहले उपायुक्त गुरचरण सिंह थे
  • कुल्लू जिले का 01 नवंबर 1966 ईस्वी को पंजाब से हिमाचल प्रदेश में विलय हो गया

अर्थव्यवस्था:

  • कृषि और पशुपालन– हमटा और कुना में आलू विकास केंद्र स्थित है
  • कैप्टन आर. सि. ली. ने 1870 ईसवी में बंदरोल कुल्लू में ब्रिटिश किस्म के बगीचे लगाएं
  • कुल्लू के मोहल में 1964 ईस्वी में अंगोरा फार्म स्थापित किया गया
  • कुल्लू के पतलीकुहल, नागिनी और मोहिली में मछली पार्क स्थित है
  • मनाली में 1884 ईस्वी में ए. टी. बैनन ने 1854 ईसवी ब्रिटिश किस्म के सेव लगाएं लगाएं
  • उद्योग और खनिज- पार्वती घाटी में काई नाइट, लारजी और हारला में लाइमस्टोन पाया जाता है
  • जल विद्युत परियोजनाएं- (1) पार्वती परियोजना (2051 मेगावाट) हिमाचल प्रदेश की सबसे बड़ी जल विद्युत परियोजना है (2 ) मलाणा परियोजना (40 मेगावाट) (3) लारजी परियोजना (126 मेगावाट)

मेले- कुल्लू दशहरा कुल्लू के ढालपुर मैदान में दशहरे के दिन रघुनाथ जी की यात्रा निकाली जाती है

कुल्लू दशहरा अंतरराष्ट्रीय स्तर का त्यौहार है जो 7 दिनों तक चलता है

भगवान परशुराम की याद में भडोली मेला और निरमंड में बूढ़ी दिवाली मनाई जाती है देवी हडिंबा की याद में डूंगरी मेला लगता है

मंदिर- मनाली में हेडिंबा देवी मंदिर स्थित है जिसे कुल्लू के राजा बहादुर सिंह ने 1553 ईस्वी में बनवाया था यह पैगोडा शैली में निर्मित है,

निर्मण्ड में परशुराम मंदिर स्थित है निर्मण्ड को कुल्लू का छोटा काशी कहते हैं

बजौरा में महिषासुरमर्दिनी और विश्वेश्वर महादेव का मंदिर स्थित है

District Kullu Part-02

महत्वपूर्ण स्थान:

मनाली: मनाली का नाम मनु के नाम पर पड़ा अर्थात मनु का घर

यहाँ से 12 किलोमीटर दूरी पर सोलंग नाला में अंतरराष्ट्रीय स्कीइंग प्रतियोगिता व राष्ट्रीय शीतकालीन खेल आयोजित होते हैं

मनाली में 1962 ईस्वी में पर्वतारोहण संस्थान खोला गया

मणिकरण:

यहां पर गरम पानी का चश्मा है यहां देवी पार्वती की कान की मणि टूट कर गिर गई थी

नग्गर: यहां पर रोरिक कला संग्रहालय है रोरिक रूस का रहने वाला था

1942 ईस्वी में इंदिरा गांधी व पंडित नेहरू यहां आए थे

भुंतर: में हवाई अड्डा है हारला नदी भुंतर में व्यास नदी में मिलती है

मलाणा: गांव विश्व का सबसे पुराना लोकतंत्र है जिस पर शासन जामलू देवता करते थे जामलू देवता परशुराम के पिता जमदग्नि ऋषि को कहा जाता है

तीर्थन: में ग्रेट हिमालयन राष्ट्रीय पार्क है

महत्वपूर्ण व्यक्ति:
  • प्रताप सिंह: 1857 के विद्रोह के नेता जी जिन्हें धर्मशाला में फांसी पर चढ़ा दिया गया था
  • निकोलस रोरिक:  रूसी कलाकार जो कुल्लू के नग्गर में 1947 ईस्वी तक रहे उनके नाम पर रोरिक कला संग्रहालय नग्गर में स्थित है
  • लाल चंद प्रार्थी: कुल्लू से मंत्री बनने वाले पहले व्यक्ति लाल चंद प्रार्थी ने 1945 ईस्वी के भारत छोड़ो आंदोलन में भाग लिया और “कुल्लुत देश की कहानी” पुस्तक लिखी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.