Hydrosphere

Hydrosphere- The hydrosphere is the total amount of water on a planet.

जलमण्डल (Hydrosphere)

पृथ्वी पर उपस्थित जलराशि जो द्रव, वाष्प, या बर्फ के रूप में होता है, यह या तो लवणीय या अलवणीय जल होता है।

पृथ्वी को नीला ग्रह कहा जाता है।

धरती  का 71% भाग जल तथा 29% भाग स्थल होता है।

पृथ्वी पर पाए जाने वाले जल का 97% से अधिक भाग महासागरों में पाया जाता है।

दक्षिणी गोलार्द्ध में 81% भाग जल और 19% स्थल भाग है।

उत्तरी गोलर्द्ध में 40% जल और 60% स्थल भाग है।

Hydrosphere

महासागर

यह जलमण्डल का मुख्य भाग है।

तरंगे ,ज्वार भाटा, और महासागरीय धाराएं, महासागरीय जल की तीन प्रमुख गतियां है।

पृथ्वी पर पांच प्रमुख महासागर है –

(1) प्रशांत महासागर
(2) अंटलांटिक महासागर
(3) हिन्द महासागर
(4) दक्षिणी महासागर
(5) आर्कटिक महासागर

(1) प्रशांत महासागर

Hydrosphere
Hydrosphere

यह सबसे बड़ा महासागर है, इसकी आकृति वृत्ताकार है।

प्रशांत महासागर की औसत गहराई लगभग 14,000 फुट है।

इस महासागर में सर्वाधिक द्वीप जो हज़ारों की संख्या में है।

मेरियाना खाई जो दुनिया की सबसे गहरी खाई है, इसी महासागर में स्थित है।

प्रशांत महासागर का वह भाग, जो कर्क रेखा तथा मकर रेखा के मध्य में है, मध्य प्रशांत महासागर कहा जाता है।

कर्क के उत्तरी क्षेत्र को उत्तरी प्रशांत महासागर तथा मकर के दक्षिण स्थित भाग को दक्षिणी प्रशांत महासागर कहा जाता है।

महासागर के दक्षिण में अंटार्टिका महाद्वीप, पश्चिम में एशिया और ऑस्ट्रेलिया, पूर्व में उत्तरी तथा दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप स्थित है।

यह महासागर अमेरिका और एशिया को अलग करता है।

(02) अटलांटिक महासागर

अटलांटिक महासागर
अटलांटिक महासागर
  • यह विश्व का दूसरा सबसे बड़ा महासागर है।
  • अटलांटिक महासागर को अंध महासागर भी कहते हैं।
  • इसका क्षेत्रफल- 4,10,81,040 वर्ग मील है
  • औसत गहराई- 12,839 फीट
  • अधिकतम-  28,614 फीट है।
  • इसकी आकृति S अक्षर जैसी है।
  • इस महासागर के जल की लवणता 3.7 प्रतिशत है,और इसी कारण इस महासागर का जल सबसे ज्यादा नमकीन है।
  • इस महासागर के पश्चिम में उत्तर एवं एवं दक्षिणी अमेरिका, पूर्वी किनारे पर यूरोप और अफ्रीका है।
  • बरमूडा त्रिकोण, संसार की सबसे खतरनाक मानी जाने वाली जगहों में से एक इसी महासागर में स्थित है।
  • अटलांटिक महासागर का मुख्य आकर्षण  “मध्य अटलांटिक कटक” है।

मध्य अटलांटिक कटक आइसलैंड और अटलांटिक महासागर के बीच “विविल थॉमसन कटक” कहलाती है।

इसे ग्रीनलैंड और आइसलैंड के बीच में आने वाले भागो में टेलीग्राफिक पठार कहा जाता है।

व्यापार की दृष्टि से यह सबसे व्यस्त महासागर है।

 

 

 

Hydrosphere

(03) हिन्द महासागर
  • यह दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा महासागर है।
  • इस महासागर में पृथ्वी पर उपलब्ध पानी का लगभग 20% भाग इसमें समाहित है।
  • यह एशिया तथा अफ्रीका के बीच में फैला हुआ है।
  • यह महासागर त्रिभुजाकार है।
  • इस महासागर की औसत गहराई- 12,274 फीट (3,741 मीटर)
  • अधिकतम गहराई- 25,938 फीट (7,906 मीटर)
  • इस महासागर के उत्तर में एशिया, पश्चिम में अफ्रीका, पूर्व में ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण में अण्टार्कटिका स्थित है।
  • हिन्द महासागर का सबसे गहरा बिंदु “जावा ट्रेंच” है।
  • डायमेंटिना ट्रेंच भी हिन्द महासागर में स्थित है।
  • मेडागास्कर इस महासागर का सबसे बड़ा द्वीप है।
  • इस महासागर में प्रवाल भित्ति से बने द्वीप लक्षद्वीप और मालद्वीप है।

(4) दक्षिणी महासागर

दक्षिणी महासागरइस महासागर को अंटार्कटिका महाद्वीप को चारों तरफ से घेर रखा है।

महासागर का विस्तार अंटार्कटिका महाद्वीप से उत्तर की और 600 दक्षिणी अक्षांश तक है।

(5) आर्कटिक महासागर

अण्टार्कटिक महासागर उत्तरी ध्रुव में स्थित है।

यह महासागर उत्तर ध्रुव के चारों स्थित है।

मग्नतट जो विश्व का सबसे चौड़ा महाद्वीप है इसी महासागर में स्थित है।

बेरिंग की खाड़ी उत्तरपूर्वी एशिया और उत्तर पश्चिमी उत्तर अमेरिका को पृथक करने वाली एक खाड़ी है।

अंतर्राष्ट्रीय तिथि रेखा के समांतर बेरिंग जलसंधि स्थित है।

In English

Leave a Reply

Your email address will not be published.